So what if you are big . The party is not a shadow, it will be very far | बड़ा हुआ तो क्या हुआ, जैसे पेड़ खजूर । पंथी को छाया नहीं, फल लागे अति दूर ।। - Public News Ranchi

Breaking

So what if you are big . The party is not a shadow, it will be very far | बड़ा हुआ तो क्या हुआ, जैसे पेड़ खजूर । पंथी को छाया नहीं, फल लागे अति दूर ।।


बड़ा हुआ तो क्या हुआ, जैसे पेड़ खजूर । पंथी को छाया नहीं, फल लागे अति दूर ।।

So what if you are big . The party is not a shadow, it will be very far ..
Ranchi News

 यानी खजूर के पेड़ के भाँती बड़े होने का कोई फायदा नहीं है, क्योंकि इससे न तो यात्रियों को छाया मिलती है, न इसके फल आसानी से तोड़े जा सकते हैं । आर्थात बड़प्पन के प्रदर्शन मात्र से किसी का लाभ नहीं होता । कहते है समय हर किसी को उसके सवाल का जवाब दे देता है। अब देखिये कुछ दिनों पहले की ही बात है। भाजपा के एक बड़े नेता ने रांची के संत ज़ेवियर कॉलेज में फेस्ट स्थगित कराते हुए कहा था की इन 'फादर्स ब्रदर्स' के अंदर देशभक्ति की भावना क्यों नहीं आती।

 आज उसी फादर्स ब्रदर्स की शिक्षा का नतीजा देखकर हर भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो गया। न जाने इन्हे फादर्स ब्रदर्स ने ऐसी कौन सी शिक्षा दी थी की इन्होने आज दुश्मन देश के दांत खट्टे कर दिए। हमे बचपन से यही सिखाया गया है की देशभक्ति किसी को सिखाई नहीं जाती। वो खुद ही हर देशवासी के अंदर विकसित हो जाती है। मगर इतना जरूर है की देश को धर्म, जात पात में बांटना भी एक तरह का देशद्रोह है।

असल में देशद्रोही तो वे है जो देश में रहकर देश को धर्म, जात, पात, मजहब के नाम पर तोड़ने की कोशिश करते है। वैसे सुना है की फादर्स ब्रदर्स को देशभक्ति का पाठ पढ़ाने वाले प्रतुल शाहदेव जी को भी शिक्षा दीक्षा फादर्स ब्रदर्स ने ही दी थी। बताते चले की भारतीय वायुसेना प्रमुख वीएस धनोआ ने रांची के संत ज़ेवियर स्कूल में तीन वर्षो तक पढ़ाई की है।

8 मार्च को अंतिम मैच खेलेंगे महेंद्र सिंह धौनी

No comments:

Post a Comment