Prime Minister Shram Yogi Manadhan Yojana launched on March 5 | मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को कहा - Public News Ranchi

Breaking

Prime Minister Shram Yogi Manadhan Yojana launched on March 5 | मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को कहा

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को कहा कि आगामी 5 मार्च 2019 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पूरे देश में एक साथ प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का शुभारंभ करेंगे। 

Prime Minister Shram Yogi Manadhan Yojana launched on March 5
Jharkhand Map

इस योजना के तहत देश के असंगठित कामगारों के लिए पेंशन की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के असंगठित क्षेत्र के 92% श्रमिकों को आच्छादित किया जाएगा। इस योजना का पूर्ण लाभ श्रमिकों को दिलाना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के सर्वांगीण विकास को मद्देनजर रखते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी इस योजना को पूरे देश में लागू करने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने ये बातें झारखण्ड मंत्रालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि असंगठित कर्मकार के लिए यह एक महत्वाकांक्षी पेंशन योजना है।

इस योजना का लाभ वैसे असंगठित कर्मकार जिसकी मासिक आय 15000 रुपए से अधिक नहीं है और उम्र 18 से 40 वर्ष तक है तो उसे मिल सकेगा। इस पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए पात्र कर्मकारों को मासिक अंशदान के रूप में 55 रुपए से लेकर 200 रुपए तक मासिक किस्त जमा करनी होगी। नियमित अंशदान करने एवं 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के पश्चात 3000 रुपए मासिक पेंशन कर्मकारों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि पेंशन प्राप्त करने के दौरान मृत्यु होने पर उनके आश्रित परिवार पत्नी/पति को अभिदाता द्वारा प्राप्त की जाने वाली पेंशन का 50% राशि प्रतिमाह मिल सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना के शुभारंभ के अवसर पर रांची जिला के नामकुम तथा गोड्डा में राज्यस्तरीय कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस योजना का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार कर असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को इस योजना से जोड़ना राज्य सरकार का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी जिला मुख्यालयों, प्रखंड स्तर पर, नगर निकाय एवं ग्राम पंचायतों में कैंप लगाकर मजदूरों का रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा। रजिस्ट्रेशन कार्य तब तक चलेगा जब तक शत-प्रतिशत असंगठित श्रमिक इस योजना के दायरे में आएंगे। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि नियमित अंशदान करने और 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के पूर्व स्थाई रूप से नि:शक्त होने पर पति अथवा पत्नी नियमित अंशदान कर इस स्कीम में बने रह सकते हैं अथवा पेंशन निधि द्वारा उस पर वास्तव में अर्जित राशि या बचत बैंक ब्याज दर पर अर्जित राशि जो भी अधिक हो, प्राप्त कर स्कीम छोड़ने की हकदार बन सकते हैं।

उन्होंने कहा कि योजना में सम्मिलित होने के 10 वर्ष की अवधि के भीतर छोड़ने पर उसके द्वारा किए गए जमा अंशदान के हिस्से की राशि बचत खाता से मिलने वाले ब्याज सहित भुगतान किया जाएगा। 10 वर्ष की अवधि से अधिक परंतु 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के पूर्व स्कीम छोड़ने पर पेंशन निधि द्वारा उस पर वास्तव में अर्जित राशि अथवा जमा राशि एवं उस रकम पर बचत खाता से मिलने वाले ब्याज सहित जो भी अधिक है, उसका भुगतान किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना के तहत गृह आधारित कर्मकार, गली-मोहल्लों में फेरी लगाने वाले, मध्याह्न भोजन कर्मकार, सिर पर बोझा उठाने वाले कर्मकार, कूड़ा बीनने वाले, ईंट-भट्ठा कर्मकार, मोची, धोबी, चमड़ा कर्मकार, रिक्शा चालक, घरेलू कर्मकार, संनिर्माण कर्मकार, बीड़ी कर्मकार, हथकरघा कर्मकार, स्वरोजगारी, दृश्य श्रव्य कर्मकार, ग्रामीण भूमिहीन श्रमिक, किसान मजदूर, फल सब्जी खुदरा विक्रेता, आंगनबाड़ी कर्मी, मनरेगा कर्मी, जल सहिया, स्वास्थ्य सहिया, पारा शिक्षक, सफाई कर्मी, बीड़ी मजदूर, दुकानों के कर्मी, कुम्हार, ऑटो टैक्सी चालक, फूल विक्रेता, धोबी, दर्जी, माली इत्यादि वर्ग के असंगठित श्रमिकों को आच्छादित किया जाएगा। रघुवर दास ने कहा कि राज्य के गरीब मजदूरों को आर्थिक रूप से मजबूत करना सरकार की प्राथमिकता है। इनका जीवन स्तर ऊंचा हो और मजदूर वर्ग भी सम्मान की जिंदगी जिये यह हम सभी का लक्ष्य होना चाहिए।


मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सभी उपायुक्तों को निर्देश दिया है कि 10 दिन के अंदर सभी पंचायत स्वयंसेवकों को बकाया प्रोत्साहन राशि का भुगतान करें।

No comments:

Post a Comment