Government will know if Aadhar card is linked to EVM: fake voting | आधार कार्ड को ईवीएम से जोड़े सरकार तो पता चल जाएगी फर्जी वोटिंग - Public News Ranchi

Breaking

Government will know if Aadhar card is linked to EVM: fake voting | आधार कार्ड को ईवीएम से जोड़े सरकार तो पता चल जाएगी फर्जी वोटिंग

 आधार कार्ड को ईवीएम से जोड़े सरकार तो पता चल जाएगी फर्जी वोटिंग

Aadhar-card

              Aadhar card 


दोस्तों आजकल आधारकार्ड को लेकर काफी हल्ला मचा है। हर स्कीम में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया है। राशन लेना हो या फिर कोई फार्म भरना हो सब में आधार कार्ड जरूरी है। बैंक गैस सिलेंडर लेने के लिए भी आधार कार्ड जरूरी हो गया है। लेकिन सरकार अभी भी आधार कार्ड को ईवीएम से नहीं जोड़ रही। सरकार यदि आधार कार्ड को ईवीएम से जोड़ती है तो बहुत बड़ा फायदा होगा। आइये जानते हैं इसके पीछे का गणित।

क्या है आधार कार्ड


 आधार कार्ड एक यूनिक आईडी नंबर है। यह ११ अंकों का होता है। सरकार ने इसे भ्रष्टाचार रोकने की दिशा में कदम बताते हुए प्रत्येक सरकारी स्कीम से जोडऩा अनिवार्य कर दिया है। लेकिन उसके बाद भी भ्रष्टाचार नहीं रुक रहा है। यहां तक कि बैंक खाते में मोबाइल नंबर पर पासपोर्ट बनवाने में राशन लेने में गैस सिलेंडर लेने में भी आधार कार्ड की अनिवार्यता लागू कर दी गई है। अब जरूरत है तो केवल ईवीएम से आधार कार्ड को जोडऩे की।

क्यों जरूरी है ईवीएम से जोडऩा

Aadhar-card


 चुनाव के समय कोई सा भी दल हो फर्जी वोटिंग कराता है। ऐसे में मतदाता को पता ही नहीं होता और उसका वोट डल जाता है। इसके अलावा वोटिंग कहीं कम होती है तो सरकार ज्यादा बताती है और ज्यादा होती है तो कम बाताती है। ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत भी होती रही है। इसलिए आधार कार्ड को ईवीएम से जोड़ा जाना भी जरूरी है। 

क्या होगा फायदा


 आधार नंबर को ईवीएम से जोड़ा जाना चाहिए। इससे यह होगा कि जो भी व्यक्ति वोट डालेगा उसके मोबाइल पर वोट डालने का मैसेज आ जाएगा। अब यदि उसने वोट डाला है तो वह कुछ नहीं कहेगा लेकिन यदि उसका वोट किसी और ने डाला है तो वह शिकायत कर मतदान प्रक्रिया पर सवाल खड़ा कर सकता है। इसे कोर्ट में भी चैलेंज कर मदातन रद्द किया जा सकता है।

सही तरीके से निष्पक्ष होगा चुनाव 


आधार कार्ड को ईवीएम से जोडऩे पर चुनाव बड़े निष्पक्ष तरीके से हो सकेंगे। फर्जी वोटिंग तो हो ही नहीं सकेगी। क्योंकि प्रत्येक मतदाता को पता होगा कि उसने वोट दिया हेै या नहीं। आधार कार्ड का मैसेज इसका सबूत होगा। इससे वास्तविक मतदान प्रतिशत और वास्तविक वोटिंग का पता चल सकेगा।

No comments:

Post a Comment